Best Seller

5

KIRAN UPPCS Social Work (Samaj karya) for Uttar Pradesh PCS Main Exam- Hindi
समाज कार्य (पेपर – I)
1. समाज कार्य: अर्थए उद्देश्यए विषय क्षेत्रए, मान्यताएँ एवं मूल्य (समाज कार्य: दर्शन एवं प्रणालियाँ)
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न,
A. समाज कार्य: अर्थ, समाज कार्य: उद्देश्य,
B. समाज कार्य: विषय क्षेत्र,
C. समाज कार्य: मान्यताएँ एवं मूल्य
2. समाज कार्य दर्शन: प्रजातांत्रिक (समानता, न्याय, स्वतंत्रता एवं भ्रातृत्व) तथा मानवतावादी मानवाधिकार मैट्रिक्स विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, समाज कार्य दर्शन: प्रजातांत्रिक तथा मानवतावादी मानवाधिकार मैट्रिक्स,
3. समाज कार्य: इंग्लैंड, अमेरिका एवं भारत में समाज कार्य का इतिहास
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न,
D. समाज कार्य: पश्चिमी समाज में इतिहास
4. व्यवसाय के रूप में समाज कार्य: वैयक्तिक सेवा कार्य: अर्थ, विषय क्षेत्र, सिद्धांत
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, व्यवसाय के रूप में समाज कार्य, भारत में व्यवसाय के रूप में समाजकर्ता, वैयक्तिक सेवा कार्य: अर्थ, विषय क्षेत्र, सिद्धांत, प्रक्रियाएँ, वैयक्तिक समाज कार्य का विषय क्षेत्र, वैयक्तिक सेवा कार्य के सिद्धांत/कार्यकर्ता-सेवार्थी संबंध सिद्धांत, परिवर्तन में सेवार्थी का स्थान
5. वैयक्तिक सेवा कार्य प्रक्रियाएँ: मनो-सामाजिक अध्ययन, निदान, उपचार, लक्ष्य निर्धारण एवं उपचार की प्रविधियाँ, प्रयास एवं पुनर्वासन विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, वैयक्तिक समाज कार्य: प्रक्रिया, निदान, उपचार, उपचार की प्रत्यक्ष तथा अप्रत्यक्ष प्रणालियों में अन्तर
6. सामूहिक सेवा कार्य: अर्थ, उद्देश्य, सिद्धांत, निपुणताएँ, प्रक्रियाएँ (अध्ययन, निदान, उपचार एवं मूल्यांकन)
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, सामूहिक समाज कार्य की विशेषताएँ, सामाजिक, सामूहिक कार्य के उद्देश्य, समूह का महत्व, सामाजिक सामूहिक कार्य के मूल्य, सामूहिक समाज कार्य की मूल मान्यताएँ, सामूहिक सेवा कार्य की निपुणताएँ, सामूहिक समाज कार्य के सिद्धांत, सामूहिक-सेवा कार्य की प्रक्रियाएँ
7. सामूहिक सेवा कार्य: कार्यक्रम नियोजन एवं विकास, सामूहिक सेवा कार्यकर्ता की भूमिका, नेतृत्व का विकास
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, सामूहिक सेवा कार्य - कार्यक्रम नियोजन एवं विकास
8. सामुदायिक संगठन: अर्थ, उद्देश्य, सिद्धांत, अभिगम
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, सामुदायिक संगठन: अर्थ, उद्देश्य, सिद्धांत, अभिगम, सामुदायिक संगठन के चरण
9. सामुदायिक संगठनकर्त्ता की भूमिका
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, सामुदायिक संगठनकर्ता की भूमिका,
10. समाज कल्याण प्रशासन: अर्थ, विस्तार क्षेत्र, तत्वाधान-निजी एवं सरकारी, सिद्धांत, मूल प्रशासकीय प्रक्रियाएँ एवं व्यवहार
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, समाज कल्याण प्रशासन: अर्थ, विस्तार क्षेत्र, समाज कल्याण प्रशासन: मूल प्रशासकीय प्रक्रियाएँ एवं व्यवहार, समाज कल्याण प्रशासन: सरकारी व निजी तत्वाधान, समाज कल्याण प्रशासन तथा लोक प्रशासन में अंतर
11. निर्णय लेना, संप्रेषण, नियोजन, संगठन, बजट एवं वित्तीय नियंत्रण प्रतिवेदन
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, समाज कल्याण प्रशासन: सम्प्रेषण, समाज कल्याण प्रशासन: निर्णय लेना (निर्णयन), समाज कल्याण प्रशासन: नियोजन संगठन
12. सामाजिक क्रिया: अर्थ, विषय क्षेत्र
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, सामाजिक क्रिया: अर्थ, सामाजिक क्रिया: सिद्धांत, सामाजिक क्रिया में सामाजिक कार्यकर्ता की भूमिका, सामाजिक क्रिया: विषय क्षेत्र
13. सामाजिक क्रिया: अभिगम (सर्वोदय, अन्त्योदय इत्यादि) तथा रणनीतियाँ
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, सामाजिक क्रिया: अभिगम (सर्वोदय, अन्त्योदय इत्यादि) तथा रणनीतियाँ, सामाजिक क्रिया रणनीतियाँ
14. समाज कार्य शोध: अर्थ, उद्देश्य, प्रसाद, विषय क्षेत्र, वैज्ञानिक पद्धति
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, समाज कार्य शोध: अर्थ, उद्देश्य, विषय क्षेत्र, समाज कार्य शोध - विषय क्षेत्र, समाज कार्य शोध के प्रकार, समाज कार्य शोध की वैज्ञानिक प्रणाली
15. शोध समस्या का चयन एवं प्रतिपादन, शोध प्ररचना, आँकड़ा संग्रह के स्रोत एवं ढंग, आँकड़ों का संसाधन, विश्लेषण एवं निर्वचन, प्रतिवेदन आलेख विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, समाज कार्य शोध के विभिन्न चरण, शोध समस्या के चयन एवं प्रतिपादन में प्रमुख विचारणीय तथ्य, एक अच्छे अनुसंधानकर्ता के गुण, तथ्य संकल्पन
समाज कार्य (पेपर – II)
1. पाठ्यक्रम - महिलाओं से संबंधित समस्याएँ - दहेज, तलाक, कार्यरत दम्पत्तियों वाले परिवार, स्त्री-पुरुष असमानता, महिलाओं की समस्याएँ, वेश्यावृत्ति, लिंग संबंधी अपराध, महिला सशक्तीकरण
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, भारत में महिलाओं की स्थिति, महिलाओं की समस्याएँ, लिंग संबंधी असमानता, कामकाजी महिलाओं की समस्या, महिला कल्याण, दहेज समस्या, घरेलू (पारिवारिक) हिंसा, घरेलू हिंसा को रोकने हेतु सुझाव, विवाह विच्छेद (तलाक), वेश्यावृत्ति, वेश्यावृत्ति निराकरण 2. पाठ्यक्रम- अपराध, सफेदपोश अपराध, संगठित अपराध, बाल अपराध
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, अपराध का सामान्य वर्गीकरण, अपराधियों का वर्गीकरण, अपराध के विविध कारण, भारत में अपराध निरोध, अपराध की रोकथाम हेतु सुझाव, संगठित अपराध व नियंत्रण हेतु सुझाव, बाल अपराध, श्वेतवसन अपराध, अपराध तथा श्वेतवसन अपराध में अंतर, श्वेतवसन अपराध के प्रमुख कारण, श्वेतवसन अपराध को रोकने हेतु सुझाव
3. पाठ्यक्रम - परिवार संरचना, विवाह, अधिकार प्रभुत्व, प्रवासी कार्यकर्ता वाले परिवार
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, परिवार के प्रकार, परिवार में आधुनिक परिवर्तन, परिवार के प्रकार्य एवं महत्त्व, विवाह
4. अनुसूचित जातियों एवं अनुसूचित जनजातियों तथा अन्य पिछड़े वर्गों की समस्याएँ, कल्याण (निर्बल वर्गों से संबंधित समस्याएँ)
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों के लिए कल्याण-कार्य, पिछड़ा वर्ग, अन्य पिछड़े वर्गों की समस्याएँ
5. बाल विकास- बच्चों की समस्याएँ, विचलनः- भगोड़ापन, आवारागर्दी एवं किशोर उपचार
विगत वर्षों में आये हुए प्रश्न, बाल श्रम, बाल श्रम के कारण, बाल श्रम की समस्या के निराकरण हेतु अन्य सुझाव, बाल भगोड़ापन एवं बाल आवारापन, बाल विकास, बाल विकास के प्रमुख उद्देश्य
6. पाठ्यक्रम - मादक द्रव्य व्यसन/मद्यपानै
विगत वर्षों में